20.1 C
New Delhi
Sunday, March 26, 2023

कू ऐप अंग्रेजी के साथ-साथ कई भारतीय भाषाओं में उपलब्ध, 4 सौ अक्षरों की शब्द सीमा

भारत में बना माइक्रो ब्लॉगिंग साइट कू तेजी से लोकपिय्र हो रहा है। इस ऐप की शुरूआत नवंबर 2019 में की गयी थी।

कई भारतीय इस स्‍वदेशी ऐप से जुड़ गए हैं। यह ऐप आत्‍मनिर्भर भारत ऐप नवाचार चुनौती का विजेता भी है। कू ऐप अंग्रेजी के साथ-साथ कई भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है। ऐप में चार सौ अक्षरों की शब्द सीमा है और इसमें व्हाट्सएप तथा अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपडेट साझा करने की सुविधा भी है।

आकाशवाणी समाचार से बातचीत में कू ऐप के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी अप्रमेय राधाकृष्ण ने कहा कि यह वास्तव में एक आत्मनिर्भर ऐप है और यह सुनिश्चित किया गया है कि यह उपयोगकर्ताओं के लिए सुरक्षित हो।

इस ऐप से जुड़ने वाले प्रमुख लोगों में लेखक, अमीश त्रिपाठी भी हैं। आकाशवाणी से बातचीत में उन्होंने कहा कि भारतीय प्रतिभाओं को मौका देना विदेशी ऐप्स को बढ़ावा देने से बेहतर है। उन्होंने कहा कि यह कई भारतीय भाषाओं में उपलब्ध होने के कारण उपयोगकर्ताओं के लिए फायदेमंद है।

चूंकि ऐप को देश में ही बनाया गया है इसलिए डेटा की निजता की चिंता भी नहीं है। आकाशवाणी से बातचीत करते हुए साइबर विशेषज्ञ जितेन जैन ने इस बारे में विस्तार से जानकारी दी।

कू की तरह कई अन्य भारतीय ऐप अब घरेलू उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध है। ये आत्‍मनिर्भर भारत के विचार को प्रोत्‍साहन दे रहे हैं। ये ऐप अगली पीढ़ी की उद्यमशीलता और नवाचार की भावना के उदाहरण हैं।

Related Articles

अंकित शर्मा की हत्या का मामले में ताहिर हुसैन दोषी करार

साल 2020 में उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए हिंदू विरोधी दंगों के दौरान आईबी स्टाफ अंकित शर्मा की निर्मम हत्या के मामले में आम आदमी...

कर्नाटक सरकार ने मुस्लिमों का 4% आरक्षण खत्म किया

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव होने हैं और इससे पहले बीजेपी की सरकार ने मुस्लिमों को मिलने वाले 4 फीसदी आरक्षण को खत्म कर दिया...

भारत सुरक्षा के अलग-अलग मानकों को स्वीकार नहीं करेगा: जयशंकर

खालिस्तान समर्थक प्रदर्शनकारियों द्वारा ब्रिटेन में भारतीय उच्चायोग में भारतीय तिरंगा हटाने के प्रयास की घटना पर कड़ा रुख अपनाते हुए विदेश मंत्री एस...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,866FansLike
476FollowersFollow
2,679SubscribersSubscribe

Latest Articles