8.1 C
New Delhi
Friday, January 27, 2023

केजरीवाल से स्मृति ईरानी ने पूछे 10 सवाल

स्मृति ईरानी ने दागे कई सवाल
अरविन्द केजरीवाल ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक जज की भूमिका खुद ही निभाते हुए सत्येन्द्र जैन को सभी अपराधों से क्लीन चिट दे दी। आज मैं उनसे कुछ सवाल करूंगी।

1. क्या आप इस बात से इनकार कर सकते हैं कि सत्येन्द्र जैन ने 2010-2011 से लेकर 2015-16 के दौरान 4 शेल कंपनियां की मदद से जोकि अकिंचन डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, इंडो मेटल इंपेक्स प्राइवेट लिमिटेड, पर्यास इंफोसोल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड, मंगलायतन प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड, जे जे आइडियल एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड है, अपने सहयोगियों के साथ मिलकर कोलकाता के हवाला ऑपरेटर के जरए 16 करोड़ 39 लाख की मनी लॉन्ड्रिंग की वो भी 56 शेल कंपनियों का इस्तेमाल कर।

2. क्या ये सत्य है कि सत्येन्द्र जैन ने वर्ष 2016 में ये खुद स्वीकार किया था कि उन्होंने 16 करोड़ 39 लाख के मनी लॉन्ड्रिंग में अपने करीबी सहयोगी वैभव जैन और अंकुश जैन के साथ मिलकर की थी और अपनी आय को छुपाया था।

3. केजरीवाल जी क्या ये सत्य है प्रिन्सपल कमिशनर ने इस बात को रिजेक्ट किया कि 16 करोड़ 39 लाख के मालिक न वैभव जैन थे न अंकुश जैन बल्कि इस काले धन के मालिक स्वयं सतेन्द्र जैन हैं।

4. क्या ये सत्य है कि डिवीजन बेंच दिल्ली हाई कोर्ट ने 21/08/2019 के अपने ऑर्डर में इस बात की पुष्टि की कि सत्येन्द्र जैन केजरीवाल के न सिर्फ सरकार में मंत्री, उनके परम मित्र, उनके सहयोगी ने 16 करोड़ 39 लाख मनी लॉन्ड्रिंग की। अगर केजरीवाल के पास कोर्ट के इस दस्तावेज की कोई कॉपी नहीं है बीजेपी के कार्यकर्ता बड़े समान के साथ उन्हें ये कॉपी भेज देंगे।

5. क्या ये सत्य है केजरीवाल कि सत्येन्द्र जैन शेल कंपनी के मालिक हैं। उन शेल कंपनियों का नाम है इंडो मेटल इंपेक्स प्राइवेट लिमिटेड, अकिंचन डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, पर्यास इंफोसोल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड, मंगलायतन प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड और ये कंपनियां वो अपनी धर्म पत्नी के साथ शेयर होल्डिंग के माध्यम से नियंत्रित करते हैं। वो रियल ओनर थे इस मनी लॉन्ड्रिंग में। एक और कंपनी जे जे आइडियल एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड है जिसमें अधिकतर शेयर होल्डिंग सत्येन्द्र जैन, उनकी पत्नी व परिवार की है जिसको केजरीवाल जी प्रेस के माध्यम से ढांढस बंधा रहे थे कि ‘भाभीजी डरने की जरूरत नहीं है।’

6. क्या ये सत्य है सत्येन्द्र जैन ने 200 बीघा जमीन कराला, औचंदी, निजामपुर, उधम, नॉर्थ और नॉर्थ वेस्ट दिल्ली के इलाके में, अनधिकृत कॉलोनियां के संदर्भ में, इस काले धन के माध्यम से 200 बीघा जमीन का मालिकाना हक इन शेल कंपनियों के माध्यम से क्या सत्येन्द्र जैन के मालिकाना हक के तहत बेनेफिट में आया।

7. क्या ये सत्य है कि जो 200 बीघा की जमीन है वो उन अनधिकृत कॉलोनियां के आसपास है जिसके संदर्भ में मंत्रालय सतेन्द्र जैन का और आम आदमी पार्टी के माध्यम से क्या ये कारण बना कि वो अनधिकृत कॉलोनियां नियमित हुईं।

8. केजरीवाल क्या ये सत्य है कि चार्जशीट में में प्रीवेन्शन ऑफ करप्शन ऐक्ट के तहत सत्येन्द्र जैन आज मुख्य आरोपी हैं।

9. क्या ये सत्य है कि 16 करोड़ 39 लाख मनी लॉन्ड्रिंग की जो सत्येन्द्र जाए की आय है उसपर इनकम टैक्स डिपार्ट्मन्ट टैक्स लगाए ये प्रस्ताव स्वयं सत्येन्द्र जैन की कंपनियों का था।

10. जिस सत्येन्द्र जैन ने स्वयं स्वीकार किया कि 16 करोड़ 39 लाख मनी लॉन्ड्रिंग हवाला ऑपरेटर्स के माध्यम से की गई उन कंपनियों में जिनमें सत्येन्द्र जैन व उनके परिवार की भागीदारी है। क्या वो व्यक्ति आज भी AAP द्वारा संचालित सरकार का मंत्री बना रहना चाहिए? आप कहते हैं भ्रष्टाचार करने वाला देश का गद्दार है, क्या आप देश को गद्दार को पनाह दे रहे हैं।

Related Articles

बकवास किताब है रामचरितमानस, इस पर बैन लगे: स्वामी प्रसाद मौर्य

रामचरितमानस को लेकर विवाद थमता हुआ नजर नहीं आ रहा है। बिहार के शिक्षा मंत्री प्रो. चंद्रशेखर ने सबसे पहले तुलसीदास द्वारा लिखी गई...

चोटिल नहीं होने पर सभी मुख्य खिलाड़ी आईपीएल में खेलेंगे: द्रविड़

मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने सोमवार को कहा कि एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय विश्व कप के लिए योजनाओं में शामिल भारतीय क्रिकेटर चोटिल नहीं होने की...

मेरीकॉम को डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए निगरानी समिति की अध्यक्ष बनाया गया

दिग्गज मुक्केबाज एमसी मेरीकॉम भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह के खिलाफ लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,866FansLike
476FollowersFollow
2,679SubscribersSubscribe

Latest Articles