22.1 C
New Delhi
Sunday, December 4, 2022

बंगाल के पीड़ित हिंदुओं के लिए विहिप ने किया न्यायपालिका व हिन्दू समाज का आवाहन

विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय महामंत्री श्री मिलिंद परांडे ने आज कहा है कि दुर्भाग्य से पश्चिमी बंगाल में दो मई से प्रारंभ हुई क्रूर व वीभत्स राजनैतिक हिंसा का शिकार राज्य का हिंदू समाज आज तक हो रहा है। 3500 से अधिक गाँव तथा 40 हज़ार से अधिक हिंदू, जिनमें, बड़ी मात्रा में हमारा अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति का समाज भी सम्मिलित है, हिंसा से बुरी तरह से प्रभावित है। अनेक स्थानों पर महिलाओं पर क्रूर अत्याचार हुए हैं। खेत नष्ट किए गए हैं। दुकानें व घर ध्वस्त किए गए हैं। मछली व्यवसाइयों के तालाबों में विष डाला गया। लूट और मारपीट न हो, इसलिये, अब जबरन पैसा वसूला जा रहा है। इन सभी घटनाओं में इस्लामिक जिहादियों का हाथ प्रमुखता से सामने आ रहा है।
इतने दिनों से चल रही वीभत्स तथा क्रूर हिंसा पर राज्य शासन-प्रशासन का रवैया पूरी तरह से तिरस्कार पूर्ण तथा उदासीनता का ही दिख रहा है। समाज में भय का वातावरण है। जिसके कारण व पुलिस के असहयोग के चलते पीड़ितों की शिकायतों को दर्ज नहीं करने दिया जा रहा। इसी रवैया को देखते हुए विश्व हिंदू परिषद राज्य की न्यायपालिका का आवाहन करती है कि वह लोकहित में, नागरिकों की रक्षार्थ, मामले का स्वत: संज्ञान लेकर राज्य सरकार तथा स्थानीय प्रशासन को उनके कर्तव्यों के पालन के प्रति कठोरता से निर्देश दे। दंगाइयों पर शीघ्र अंकुश लगा कर उन्हें कठोरतम सजा होनी ही चाहिए। साथ ही हिंसा व आक्रमण के शिकार हिंदू समाज की रक्षा की पुख्ता व्यवस्था, उनके जान-माल के नुक़सान की भरपाई तथा पुनर्वास की व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा शीघ्रता से होनी चाहिए।
अनेक स्थानों पर हिन्दूओं से उनके वोटर कार्ड, आधार कार्ड और राशन कार्ड इत्यादि महत्वपूर्ण दस्तावेजों को भी ज़बरन छीन लिया गया है। वे उन्हें पुनः दिलवाए जाने चाहिए तथा हिंसा के शिकार लोगों पर लगे झूँठे मुकदमे निरस्त किए जाएं। हमारा निवेदन है कि माननीय न्यायालय इन सभी विषयों को समग्रता से विचार कर संकट के इस काल में पीड़ितों को न्याय दिलाए।
अपने ही राज्य में शरणार्थी जैसा अपमानजनक जीवन जीने को विवश हिन्दू समाज के भोजन व अन्य सेवा कार्यों में विहिप व अन्य संगठन लगे हुए ही हैं। किन्तु, यह एक बहुत बड़ा कार्य है जिसके लिए हम सम्पूर्ण हिन्दू समाज से आवाहन करते हैं कि वह इस मानव निर्मित आपदा में पीड़ित बंधु-भगिनियों का ढाड़स बँधाने के लिए सब प्रकार के सहयोग के लिए आगे आए। हम राज्य सरकार से भी अपेक्षा करते हैं कि क्षुद्र राजनीति से ऊपर उठकर, जो घिनौने अत्याचार स्थानीय अपराधियों व जिहादी तत्वों के माध्यम से हो रहे हैं, उन्हें वह कठोरता से रोके। हिन्दुओं की रक्षा के लिए क़दम उठाए तथा पीड़ितों के नुक़सान के भरपाई तथा पुनर्वास की समुचित व्यवस्था करे। राज्य के सम्पूर्ण हिंदू समाज के साथ विश्व हिन्दू परिषद दृढ़ता से खड़ी है।

Related Articles

शमी चोट के कारण बांग्लादेश वनडे से बाहर, उमरान मलिक टीम में शामिल

तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी कंधे में चोट के कारण बांग्लादेश के खिलाफ रविवार से शुरू होने वाली एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला में नहीं खेल...

दिल्‍ली आबकारी नीति घोटाला मामले में तेलंगाना के मुख्‍यमंत्री की पुत्री के. कविता को पूछताछ के लिए समन

सीबीआई ने दिल्‍ली आबकारी नीति घोटाला मामले में तेलंगाना के मुख्‍यमंत्री की पुत्री के. कविता को पूछताछ के लिए समन भेजा है। सीबीआई ने...

आफताब पूनावाला की नार्को जांच सफल रही

अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की हत्या के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला की यहां रोहिणी के एक अस्पताल में बृहस्पतिवार को करीब दो घंटे...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,866FansLike
476FollowersFollow
2,679SubscribersSubscribe

Latest Articles