25.1 C
New Delhi
Wednesday, March 29, 2023

400 पैकेट विस्फोटक जब्त, भारतीय सेना ने पुलवामा जैसा हमला रोका

भारतीय सेना पुलवामा-प्रकार के हमले को रोकने में सफल रही है। जम्मू-कश्मीर के गडीकल के करेवा इलाके में एक सिंटैक्स टैंक से 52 किलोग्राम वजन वाले विस्फोटक बरामद किए गए हैं।

इनपुट्स के मुताबिक, करवा में गुरुवार को 42 राष्ट्रीय राइफल्स द्वारा 0800 घंटे पर एक संयुक्त तलाशी अभियान शुरू किया गया था। खोज में 52 किलोग्राम वजन वाले 416 पैकेट विस्फोटकों से भरे एक सिंटैक्स टैंक की बरामदगी हुई। प्रत्येक पैकेट का वजन 125 ग्राम था।

आगे की खोज पर, करवा में एक अन्य सिंटैक्स टैंक से 50 डेटोनेटर बरामद किए गए। करेवा में स्थित स्थान राष्ट्रीय राजमार्ग के बहुत करीब है और लेतपोरा से लगभग 9 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में है, जहां पुलवामा हमला नहीं हुआ था।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतीपोरा के गोरीपुरा के पास पिछले साल 14 फरवरी को 40 सीआरपीएफ कर्मियों के काफिले पर एक वाहन-जनित आत्मघाती हमला हुआ था। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने बाद में हमले की जिम्मेदारी ली, जिसके परिणामस्वरूप 40 जवानों की मौत हो गई।

42 आरआर द्वारा बरामद विस्फोटक (फोटो क्रेडिट: मंजीत सिंह नेगी / इंडिया टुडे)
इस साल अगस्त में, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पुलवामा हमले के मामले में 5,000 पन्नों की चार्जशीट दायर की थी। आरोप पत्र में जिन लोगों के नाम हैं उनमें जेएम प्रमुख मौलाना मसूद अजहर और उनके भाई अब्दुल रऊफ असगर शामिल हैं।

एनआईए ने अपने आरोप पत्र में कहा कि हमले में इस्तेमाल किए गए विस्फोटक पाकिस्तान से चार महीने की अवधि में लाए गए थे। आरोप पत्र में सूचीबद्ध फोरेंसिक साक्ष्यों में जेएम प्रमुख मसूद अजहर के भाई रूफ असगर की एक आवाज क्लिप शामिल है। अजहर के भतीजे एमडी उमर फारूक को जारी एक पाकिस्तानी सरकारी पहचान पत्र भी अहम साजिशकर्ता ने बरामद किया था।

Related Articles

अंकित शर्मा की हत्या का मामले में ताहिर हुसैन दोषी करार

साल 2020 में उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए हिंदू विरोधी दंगों के दौरान आईबी स्टाफ अंकित शर्मा की निर्मम हत्या के मामले में आम आदमी...

कर्नाटक सरकार ने मुस्लिमों का 4% आरक्षण खत्म किया

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव होने हैं और इससे पहले बीजेपी की सरकार ने मुस्लिमों को मिलने वाले 4 फीसदी आरक्षण को खत्म कर दिया...

भारत सुरक्षा के अलग-अलग मानकों को स्वीकार नहीं करेगा: जयशंकर

खालिस्तान समर्थक प्रदर्शनकारियों द्वारा ब्रिटेन में भारतीय उच्चायोग में भारतीय तिरंगा हटाने के प्रयास की घटना पर कड़ा रुख अपनाते हुए विदेश मंत्री एस...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,866FansLike
476FollowersFollow
2,679SubscribersSubscribe

Latest Articles