25.1 C
New Delhi
Saturday, October 1, 2022

बिल्कीस बानो केस में उच्चतम न्यायलय ने केंद्र, गुजरात को नोटिस जारी किए

उच्चतम न्यायालय ने बिल्कीस बानो के सामूहिक बलात्कार और उसके परिवार के सदस्यों की हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे 11 दोषियों की रिहाई को चुनौती देने वाली एक याचिका पर बृहस्पतिवार को केंद्र और गुजरात सरकार से जवाब दाखिल करने को कहा। गुजरात सरकार की माफी नीति के तहत इस साल 15 अगस्त को गोधरा उप-कारावास से 11 दोषियों की रिहाई से जघन्य मामलों में इस तरह की राहत के मुद्दे पर बहस शुरू हो गयी है।

गौरतलब है कि गोधरा में साबरमती एक्सप्रेस पर हमले और 59 यात्रियों, मुख्य रूप से ‘कार सेवकों’ को जलाकर मारने के बाद गुजरात में भड़की हिंसा के दौरान तीन मार्च, 2002 को दाहोद में भीड़ ने 14 लोगों की हत्या कर दी थी। मरने वालों में बिल्कीस बानो की तीन साल की बेटी सालेहा भी शामिल थी। घटना के समय बिल्कीस बानो गर्भवती थी और वह सामूहिक बलात्कार का शिकार हुई थी। इस मामले में 11 लोगों को दोषी ठहराते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई गई थी।

इन दोषियों ने 15 साल से अधिक कारावास की सजा काट ली थी जिसके बाद एक दोषी ने समयपूर्व रिहा करने के लिए उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। इस पर शीर्ष अदालत ने गुजरात सरकार को मामले पर विचार करने का निर्देश दिया था।

Related Articles

कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुनाव में मल्लिकार्जुन खड़गे का नाम भी शामिल

कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने शुक्रवार को कहा कि वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे पार्टी के अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल...

मैनपुरी में सपा के कार्यालय को बुलडोज़र से तोडा गया

मैनपुरी में समाजवादी पार्टी के कार्यालय को जिला पंचायत ने बुलडोजर चलाकर ढहा दिया। मलबे को 7 दिन के अंदर हटाने के निर्देश भी...

कल भारत को मिलेगी 5G सेवाओं की सौगात

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कल नई दिल्ली में 5जी सेवाओं की शुरूआत करेंगे। अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि सरकार का लक्ष्य दो वर्षों में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,866FansLike
476FollowersFollow
2,679SubscribersSubscribe

Latest Articles