27.1 C
New Delhi
Sunday, August 14, 2022

अमरीकी प्रशासन ने सार्वजनिक तौर पर कहा है कि चीन साइबर अपराध गतिविधियों में शामिल

अमरीकी प्रशासन ने सार्वजनिक तौर पर कहा है कि चीन साइबर अपराध गतिविधियों में शामिल है और वह विश्व में बड़े पैमाने पर सरकार प्रायोजित कार्यक्रमों को चला रहा है जिससे लोगों को अरबों डॉलर का नुकसान हो रहा है। नैटो के सभी तीस देशों, यूरोपीय संघ, ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड और जापान ने चीन पर इसके वैश्विक दुष्परिणामों का आरोप लगाया है और इसके लिए अपनी एकजुटता दिखाई है।

अमरीका के न्याय विभाग ने चीन के तीन अधिकारियों पर इबोला जैसी गंभीर बीमारी के बारे में जानकारी जुटाने के लिए विश्व प्रणाली को हैक करने का आरोप लगाया है। इस बीमारी के बारे में मिलने वाली जानकारी का इस्तेमाल जैविक युद्ध या कोविड जैसी महामारी उत्पन्न करने में किया जा सकता है। विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा है कि अमरीका और उसके सहयोगी देशों ने औपचारिक रूप से इस बात की पुष्टि की है कि चीन के सुरक्षा मंत्रालय ने साइबर जासूसी गतिविधियों को लेकर माइक्रोसॉफट एक्सचेंज सर्वर के संवेदनशील उपकरणों का इस्तेमाल किया जिसका हजारों कम्प्यूटरों और नेटवर्क पर असर पड़ा।

श्री ब्लिंकन ने चीन के सुरक्षा मंत्रालय पर यह भी आरोप लगाया कि वह आपराधिक हैकरों का एक तंत्र विकसित कर रहा है जो वित्तीय लाभ के लिए सरकार प्रायोजित गतिविधियों और साइबर अपराधों को अंजाम दे रहे हैं।

Related Articles

14 अगस्त को सवेरे 6 बजे से 15 अगस्त को दोपहर 2 बजे तक मेट्रो पार्किंग बंद ।

DMRC ने कहा है कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सुरक्षा उपायों के मद्देनजर दिल्ली मेट्रो स्टेशनों पर रविवार 14 अगस्त, 2022 को सवेरे 6 बजे से सोमवार 15 अगस्त को...

निशुल्क प्रवेश के चलते ताजमहल में उमड़ी भीड़

आजादी का अमृत महोत्सव के चलते ताजमहल समेत देशभर के राष्ट्रीय स्मारकों में प्रवेश निशुल्क किये जाने से इनके दीदार के लिए पर्यटकों की...

स्वतंत्रता दिवस से पहले दिल्ली पुलिस ने दो हजार कारतूस बरामद किए

स्वतंत्रता दिवस से तीन दिन पहले दिल्ली पुलिस ने करीब दो हज़ार कारतूस बरामद किए हैं। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।  उन्होंने...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,866FansLike
476FollowersFollow
2,679SubscribersSubscribe

Latest Articles