26.1 C
New Delhi
Tuesday, September 27, 2022

भारत में बना आई एन एस विक्रांत नौसेना को सौंपा गया

कोचीन शिपयार्ड द्वारा निर्मित स्वदेशी विमान वाहक पोत आई एन एस विक्रांत को अपने बेडे में शामिल करने के साथ ही भारतीय नौसेना ने एक इतिहास रचा है। विक्रांत को नौसेना को सौंपे जाने के साथ ही भारत उन चुनिंदा राष्‍ट्रों में शामिल हो गया है जो देश में ही विमानवाहक समुद्री जहाज का निर्माण करते हैं।।

विक्रांत अगले महीने तक भारतीय नौसेना में शामिल होकर पूर्ण रूप से कार्यरत हो जायेगा। भारत के पहले विमान वाहक जहाज का नाम भी विक्रांत था जिसने 1971 के युद्ध में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 36 वर्ष की शानदार सेवा के बाद विक्रांत 31 जनवरी 1997 को कार्य मुक्‍त कर दिया गया।

आईएसी-1 भारत में बनाया गया अभी तक का सबसे बड़ा युद्धपोत है। इसका भार लगभग 45,000 टन है। इसे देश की सबसे महत्वाकांक्षी नौसैनिक पोत परियोजना भी माना जाता है। नया पोत अपने पूर्ववर्ती की तुलना में काफी बड़ा और उन्नत है, जो 262 मीटर लंबा है। इसे चार गैस टर्बाइन के जरिये कुल 88 मेगावॉट की ताकत मिलेगी।

इस पोत की अधिकतम गति 28 नॉटिकल मील है। इसके मुताबिक, करीब 20,000 करोड़ रुपये की लागत वाली यह परियोजना रक्षा मंत्रालय और सीएसल के बीच हुए अनुबंध के साथ तीन चरणों में आगे बढ़ी।

Related Articles

जांच एजेंसियों ने देश के कई राज्‍यों में PFI पर छापेमारी की

दिल्‍ली पुलिस ने पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया से सम्‍बद्ध मामले की जांच के सिलसिले में राजधानी दिल्‍ली में कई स्‍थानों पर छापे मारे हैं।...

बांग्लादेश में हुई नाव दुर्घटना में मृतकों की संख्या 50 पहुंची

बंगलादेश में पांचागढ़ की कारातोया नदी में हुई नाव दुर्घटना में मृतकों की संख्या 50 हो गई है। बंगलादेश की सरकारी समाचार एजेंसी बीएसएस...

अमानतुल्‍लाह खान को 14 दिन की न्‍यायिक हिरासत में भेजा गया

दिल्‍ली की एक अदालत ने दिल्‍ली वक्‍फ बोर्ड में कथित अनियमितता के मामले में आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्‍ला खान को 14 दिन...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,866FansLike
476FollowersFollow
2,679SubscribersSubscribe

Latest Articles